computer courses in hindi में जाने कंप्यूटर के Top 12 important कोर्सेस की जानकारी

हेल्लों दोस्तों, मेरा नाम है संदीप और sandipdhore.com के माध्यम से आप को एजुकेशनल जानकारी देता हूँ। computer courses in hindi के आज के इस विषय में हमे basic computer courses in hindi से लेकर advance computer courses in hindi के सभी कंप्यूटर कोर्सेस की जानकारी देनेवाले है। आर्टिकल को पूरा पढ़ें, ताकि कंप्यूटर के अलग अलग कोर्सेस से होनेवाले फायदों को आप अच्छे से जान सकें। 

computer courses in hindi
computer courses in hindi

 

आप सभी को पता है,आज के दौर में कंप्यूटर कोर्सेस (computer courses) का महत्व कितना बढ़ गया है, आप चाहे किसी गवर्मेंट जॉब पर हो, या किसी प्राइवेट जॉब पर, या आप का कोई बड़ा बिज़नेस हो या छोटा, आप किसी भी फ़ील्ड में क्यों ना हो, आप के लिए सब से जरुरी है कंप्यूटर को जानना। क्यों की आज हर क्षेत्र में कंप्यूटर के बिना काम नही चलता। कंप्यूटर सीखना आज की जरूरत बन गयी है। 

आज के इस डिजिटल युग में हर काम के लिए जरुरी है कंप्यूटर का ज्ञान, ऑनलाइन पढाई, ऑनलाइन डॉक्यूमेंटेशन, सरकारी योजनाओं के लिए आवेदन करना हो, आप को कुछ भी काम करना हो कंप्यूटर की जरूरत है ही है। इसलिए basic computer in hindi की जानकारी होना स्टूडेंट्स के साथ साथ सभी को जरुरी है। 

इसलिए इस आर्टिकल में हम computer courses in hindi के अलग अलग कोर्सेस की जानकारी लाये है। और साथ ही आप जानेंगे की अलग अलग कोर्सेस के क्या-क्या फायदे है? इन सभी के बारे में जानेंगे इस आर्टिकल में। चलों शुरू करते है।

Computer courses in hindi की list 

कंप्यूटर के अलग अलग कोर्सेस होते है,  सब से पहले तो हम कंप्यूटर कोर्सेस की list देखेंगे। 

  1. बेसिक कम्प्यूटर कोर्स (basic computer courses in hindi)
  2. एक्सेल का बेसिक कोर्स – Microsoft Excel Basic & Advanced Hindi
  3. एम एस वर्ड का बेसिक कोर्स – Microsoft Word Basic & Advanced Hindi
  4. डीटीपी कोर्स (DTP Course) – Desktop Publishing Course in Hindi 
  5. साइबर सुरक्षा और एथिकल हैकिंग कोर्स(Cyber security and Ethical Hacking)
  6. प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कोर्स – Programming Languages Courses
  7. वेब डिजाइनिंग कोर्स  – Web Designing Courses
  8. एनीमेशन और मल्टीमीडिया कोर्स ANIMATION & MULTIMEDIA Courses
  9. कंप्यूटर विज्ञान में डिप्लोमा (Diploma in Computer Science)
  10. डाटा एंट्री ऑपरेटर कोर्स (Data entry operator Course  )
  11. कम्प्यूटरीकृत लेखा कोर्स (COMPUTERIZED ACCOUNTING)
  12. कम्प्यूटर एडेड डिजाइन और ड्राइंग कोर्स (CADD (COMPUTER AIDED DESIGN AND DRAWING Course )
  13. डिजिटल मार्केटिंग कोर्स (Digital marketing Course)
  14. सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कोर्स – Search engine optimization Course

बेसिक कंप्यूटर कोर्स इन हिंदी – (basic computer courses in hindi)

कंप्यूटर को सिखने के पहले हमें कंप्यूटर को जानना बहुत जरुरी है। अगर हम जानेंगे ही नही तो सीखेंगे क्या? सिंपल सा यह लॉजिक आप को कंप्यूटर के बेसिक कोर्सेस से जोड़ता है। कंप्यूटर के बेसिक कोर्स में हमें कंप्यूटर के एलेमेंट्स, फंडामेंटल, फंक्शनलिटी की जानकारी दी जाती है। चलों basic computer in hindi के जानकारी को थोडा विस्तार से समझते है। 

कंप्यूटर के बेसिक कोर्स में हम कंप्यूटर को अच्छेसे से समझते है। कंप्यूटर क्या है? और कंप्यूटर कैसे काम करता है? कंप्यूटर में मौजूद अलग अलग फंक्शनलिटी को कैसे समझते है? इन सभी बातों को सिखाया जाता है। एक एक मुद्दे को हम विस्तार से देखते है। 

  • introduction of computer
  • कंप्यूटर के इनपुट आउटपुट डिवाइस को जानना 
  • Window की बेसिक जानकारी 
  • कंप्यूटर में फाइल कैसे बनाएं?
  • पेन ड्राइव या कंप्यूटर से कॉपी पेस्ट कैसे करना?
  • कंप्यूटर के अलग अलग फंक्शन को जानना 
  • प्रिंटर और कंप्यूटर से प्रिंट सम्बन्धित जानकारी 
  • MS-Word में लैटर मेकिंग, रिज्यूम मेकिंग, एप्लीकेशन तैयार करना 
  • MS-Excel में डेटाबेस, पेमेंट शीट, बिल, और अलग अलग चार्ट बनाना
  • MS – Power Point में मल्टीमीडिया के प्रयोग से प्रेजेंटेशन बनाना 
  • ईमेल आईडी बनाना, ईमेल भेजना, ईमेल प्राप्त करना, ईमेल के साथ फाइल अटैच करना 
  • टाइपिंग की जानकारी  

इत्यादि बाते सिखाई जाती है। मुझे लगता है की आज के दौर में बेसिक कंप्यूटर कोर्स की जानकारी सभी को आवश्यक है। क्यों की आज और आनेवाला दौर पूर्णरूप से कंप्यूटर का दौर होगा। इसलिए कंप्यूटर के फुन्तिओं और फंडामेंटल को जानना सभी के लिए आवश्यक रूप से जरुरी है। 

क्या बेसिक कंप्यूटर कोर्स से जॉब लगती है?

बेसिक कंप्यूटर कोर्स 3 से 6 महीने के होते है, और आज के दौर में यह सभी फ़ील्ड के लिए जरुरी हो गये है, चाहे आप छोटा मोटा बिज़नेस करते हो या, छोटे मोटे प्राइवेट जॉब पर हो, या किसी बड़ें कम्पनी में काम कर रहे हो, तो जरुर आप को बेसिक कंप्यूटर कोर्स की जरूरत है। 

अब सवाल यह है की, क्या basic computer courses in hindi से कोई जॉब लग सकती है? तो इस का जवाब है, “बिलकुल हाँ ” अगर आप छोटे शहरों में रहते है और अपने आसपास कोई जॉब चाहते है तो बेसिक कंप्यूटर कोर्स जरुरी है ही , या इस के आधार पर ही आप को आप के एरिया में ही,  जैसे की Company, mall, restaurants और अन्य स्थान पर आप computer operator, data feeding, और receptionist, आदि की जॉब कर सकते है।

Advance computer courses in hindi ( कंप्यूटर के एडवांस कोर्स)

अगर आप स्टूडेंट्स है और अपने करियर को एक सही दिशा देना चाहते है तो कंप्यूटर के कई ऐसे एडवांस कोर्सेस है जो आप को एक नया मुकाम हासिल करने के लिए हेल्प करते है। आप को मल्टीनेशनल कम्पनी में जॉब करनी है, गवर्मेंट सेक्टर में आईटी विभाग में अपना करियर करना है तो जरुरी है की आप निचे दिए  कंप्यूटर के advance कोर्स की और ध्यान दें।

  • वेब डिजाइनिंग
  • एनीमेशन और मल्टीमीडिया कोर्स 
  • टैली (Transactions Allowed in a Linear Line Yards)
  • डिजिटल मार्केटिंग कोर्स
  • कम्प्यूटर नेटवर्किंग का कोर्स
  • ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स
  • एंड्रॉयड एप डेवलपमेंट का कोर्स
  • डाटा एंट्री ऑपरेटर कोर्स
  • साइबर सिक्योरिटी कोर्स
  • हार्डवेयर मेंटेनेंस
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग
  • बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन (BCA)
  • Bsc in computer

यह कुछ एडवांस कंप्यूटर कोर्स है, जिसे हम विस्तार से समझेंगे।

वेब डिजाइनिंग (Web Designing)

आज के दौर में सभी छोटे बड़ें बिज़नेस ऑनलाइन सेवाएं प्रदान करते है, जिस के लिए जरूरत है, वेबसाइट की, इसलिए आज के समय में और आनेवाले समय में भी वेब डिज़ाइनर की मांग काफी बढ़ रही है। चलों सब से पहले आप को बता देते है, वेब डिजाइनिंग कोर्स क्या है? वेबसाइट को बनाना और अच्छेसे डिजाईन करना वेब डिजाइनिंग कोर्स में सिखाया जाता है, Html, Javascript और Css की नॉलेज को बढाने के साथ ही वेबसाइट को मैनेज करना वेबसाइट के लिए डेटाबेस बनाना इस की जानकारी दी जाती है। 

वेब डिजाइनिंग का कोर्स करने के बाद आप अच्छी जॉब पा सकते हैं। यह कोर्स कंप्यूटर साइंस में डिप्लोमा करके, बीसीए कोर्स करके, भी करके या बीटेक करके भी कर सकते हैं। इस के लिए जरुरी है आप का स्किल डेवेलोप करना इस कोर्स में आप अपनी स्किल्स को जितना बढ़ाएंगे उतना ही अच्छी और ज्यादा सैलरी वाली जॉब मिलती है। 

एनीमेशन और मल्टीमीडिया कोर्स 

एनीमेशन और मल्टीमीडिया के संस्करणों के बढ़ते प्रारूपों को देखकर यह करियर के दृष्टिकोण से सब से बढियां ऑप्शन में से एक ऑप्शन है। मनोरंजन की दुनिया में एनीमेशन के कोर्स को काफी ज्यादा मांग है,  आज के दौर में कार्टूंस, वीडियो गेम्स, 3D मूवीस आदि का प्रचलन बहुत ज्यादा बढ़ गया है। कई लाइव शो में भी आजकल एनीमेशन का प्रयोग होना शुरू हो गया है। इसलिए जो स्टूडेंट्स इस में इंटरेस्ट रखते है वे इस कोर्स को कर अपने करियर को सफलता की उचाई पर ले जा सकते है।

इस कोर्स को करने के लिए 10th और 12th में 50% से ज्यादा नंबर से उत्तीर्ण होना आवश्यक है तथा इसके लिए एंट्रेंस एग्जाम तथा इंटरव्यू भी लिया जाता है। इस कोर्स को करने के बाद एनिमेटर, आर्ट डायरेक्टर, फिल्म और वीडियो एडिटर तथा 3D एनिमेटर की जॉब मिल सकती हैं। या फिर आप अपना स्टूडियो या बिज़नेस के तौर पर एनीमेशन कम्पनी को भी शुरू कर सकते है। कई ऐसी इंटरनेशनल एनीमेशन कंपनिया है जो एनिमेटर को जॉब ऑफर करती है। यह जॉब आपकी प्रैक्टिस और आपकी स्किल पर डिपेंड होती है। 

टैली (Transactions Allowed in a Linear Line Yards)

एकाउंटिंग से सम्बन्धित यह कोर्स ज्यादा तर स्टूडेंट्स को आपने करते देखा होगा। कई असे गवर्नमेंट, नॉन-गवर्नमेंट, प्राइवेट जॉब्स है जिसे में टैली कोर्स अनिवार्य है। टैली का उपयोग बिलिंग के लिए होता है, जो बिल टैली की सॉफ्टवेयर के मदद से बनाया जाता है। और इस के लिए जरूरत होती है, टैली अकाउंटेंट की।

 टैली का कोर्स 12 तथा ग्रेजुएशन के बाद भी किया जा सकता है। टैली का कोर्स कंप्यूटर साइंस में डिप्लोमा या डिग्री करके भी किया जा सकता है। इसे सीखने में ज्यादा समय की आवश्यकता नहीं होती कुछ महीनों में ही हम इसे सीख सकते हैं। इस की अनिवार्यता को देखकर मुझे लगता है सभी स्टूडेंट्स ने टैली कोर्स कर लेना चाहिए। आप के भविष्य के दृष्टी से यह एक महत्वपूर्ण कोर्स है।

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स

डिजिटल मार्केटिंग आप ने यह शब्द कई बार सूना होगा, एक लाइन में समझाने के लिए बताता हूँ, amazon डिजिटल मार्केटिंग करता है। अब आप डिजिटल मार्केटिंग का सरल अर्थ समझ गये होंगे।  वैसे आज का दौर डिजिटल मार्केटिंग का ही दौर है। आजकल सभी ऑनलाइन चीजें खरीदने औपर जोर दे रहे है और यह बहुत आसान भी होता है। 

अपने सफल करियर की शुरवात करने के लिए यदि आप के पास स्किल है और आप थोड़ी म्हणत करने का हौसला रखते है तो डिजिटल मार्केटिंग आप के लिए सही कोर्स है। एक डिजिटल मार्केटर बनने के लिए हमें डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करना आवश्यक है। 

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करने के बाद हमें कई प्राइवेट जॉब ऑफर होते है,  या हम खुद भी एडवरटाइजिंग, यूट्यूब तथा अन्य के जरिए से पैसे कमा सकते हैं। डिजिटल मार्केटिंग कोर्स में तरह की स्किल को हमें डेवेलोप करना होता है, कई चीजों को सीखना होता है जैसे सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन, डिस्पले एडवरटाइजिंग, सर्च इंजन मार्केटिंग तथा सोशल मीडिया मार्केटिंग आदि। डिजिटल मार्केटिंग में सही तरह से की गयी मेहनत आप को घर बैठे पैसे कमाने का मौका देती है।

कम्प्यूटर नेटवर्किंग का कोर्स

किसी स्त्रोत से अन्य किसी स्त्रोत पर भेजे जाने वाला डाटा नेटवर्किंग को दर्शाता है, सीधे शब्दों में कहाँ जाएँ तो आप किसी पे ऍप से अपने पैसों को किसी अन्य जगह भेजते है, ऑनलाइन ट्रांजैक्शनतरण करते है, उसे हम नेटवर्किंग कह सकते है। याने एक कंप्यूटर से दुसरे कंप्यूटर पर डाटा को भेजना नेटवर्किंग कहलाता है। 

कई कंपनियों को, या बैंकिंग सेक्टर में कंप्यूटर नेटवर्किंग में सम्बन्धित  डाटा को सुरक्षित रखने और सुरक्षित रूप से भेजने के कंप्यूटर नेटवर्किंग का कोर्स किए हुए उम्मीदवार की आवश्यकता होती है। कम्प्यूटर नेटवर्किंग का कोर्स करने के बाद नेटवर्क इंजीनियर, नेटवर्क सिक्योरिटी एक्सपर्ट, नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेटर, डेस्कटॉप सपोर्ट इंजीनियर, टीम लीडर टेक्निकल हेड, टेक्निकल सपोर्ट इंजीनियर, सिस्टम एनालाइजर आदि बन सकते हैं। कंप्यूटर नेटवर्किंग का कोर्स 12वीं के बाद भी कर सकते हैं।

ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स

कई प्राइवेट कंपनियों, एडवरटाइजिंग क्षेत्र में, कई प्राइवेट चैनल्स को, और कई नामी ब्लोग्गेर्स और यूटूबर्स को ग्राफिक्स डिज़ाइनर की जरूरत होती है, इस कोर्स को करने के बाद आप अपने क्रिएटिविटी से काफी पैसा कमा सकते है। यह एक ऐसा माध्यम है जो आप के कला को प्रदर्शित करता है। 

ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स में टेक्स्ट और ग्राफिक की मदद से टेक्स्ट और इमेज को क्रिएटिव और यूनिक बनाना सिखाया जाता है। ग्राफिक डिजाइनिंग सीखना उतना मुश्किल नहीं होता बस यह आपकी क्रिएटिविटी पर डिपेंड करता है। अगर आप की सिच क्रिएटिव है, आप में वह स्किल है जो एक ग्राफ़िक डिज़ाइनर को चाहिए तो यकीनन इस में काफी जल्दी आप सफलता अर्जित कर सकते है।

एप डेवलपमेंट का कोर्स

इन्टरनेट की खोज ने नये स्किल के साथ नये रोजगारों के निर्माण में बडी सहायता की है। हम दैनंदिन जीवन में mobile का काफी इस्तेमाल करते है, जिस में कई तरह के एप्प हमारे काम के लिए या मनोरंजन के लिए हम इस्तेमाल करते है। इसलिए एप डेवलपमेंट का कोर्स आज के दौर में एक फायदेमंद कौसे माना जाता है। 

एप डेवलपमेंट का कोर्स करने के बाद कई प्राइवेट और सरकारी कंपनियों में अनेक जॉब्स आपके लिए होती है।  क्यों की हर कम्पनी चाहे वह प्राइवेट हो या सरकारी अपना एप्प बनवाती है। इसलिए आज के दौर में यह कोर्स अभी बहुत प्रचलन में है। इस कोर्स को करने के लिए 12वीं कक्षा में फिजिक्स केमिस्ट्री मैथ होना चाहिए तथा आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज तथा कंप्यूटर के बेसिक की अच्छी समझ होनी चाहिए।प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखने के लिए आप ऊपर बताए गए बीटेक, डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस आदि कोर्स कर सकते हैं। 

डाटा एंट्री ऑपरेटर कोर्स

 अगर आपको कॉम्पटर टेक्नोलॉजी की जानकारी नहीं है। मगर एक कुशल डाटा एंट्री ऑपरेटर बनना चाहते है तो यह कोर्स आपके लिए ही है। डाटा एंट्री का यह कोर्स Beginners के लिए डिज़ाइन किया गया है। जिसमें विद्यार्थी कंप्यूटर की शुरुआती जानकारी के साथ कंप्यूटर ऑपरेट करना सीख सकते है। कोर्स में Microsoft MS-Word, MS-Excel, MS-PowerPoint, Tally Accounting जैसे महत्वपूर्ण सॉफ्टवेयर की सभी बेसिक जानकारी दी गई है।

साइबर सिक्योरिटी कोर्स

आप को पता है, टेक्नोलॉजी की जैसे अच्छी साइड है वैसे एक बुरी साइड भी है, जिसे सायबर क्राइम का नाम डीक्य गया है। जैसे कंप्यूटर, इन्टरनेट जैसे टेक्नोलॉजी पर इंसान निर्भर होते गया, उसी के साथ इसमें होनेवाली धोखाधड़ी भी बढने लगी। ऑनलाइन स्कैम बढने लगे। कई हॅकर्स टेक्नोलॉजी के ज्ञान का दुरूपयोग कर साइबर क्राइम करते है, ऐसे में जरूरत होती है साइबर सिक्यूरिटी गार्ड्स की। साइबर सिक्यूरिटी गार्ड कंप्यूटर के डाटा को सुरक्षित रखने का काम करता है। 

साइबर सिक्यूरिटी कोर्स की जरूरत इसलिए है ताकि कंप्यूटर में डाटा को सुरक्षित रखा जाएँ। गवर्मेंट सेक्टर से लेकर प्राइवेट सेक्टर तक सभी जगह पर इसकी जॉब्स अवेलेबल है। साइबर सिक्योरिटी कोर्स यदि हम सर्टिफिकेट के लिए करते हैं तो ट्वेल्थ में गणित केमिस्ट्री फिजिक्स होना आवश्यक है तथा मान्यता प्राप्त बोर्ड से उत्तीर्ण होना चाहिए। परंतु यदि हम साइबर सिक्योरिटी कोर्स डिग्री के लिए करते हैं तो हमें इसके लिए प्रवेश परीक्षा देना आवश्यक है। साइबर सिक्योरिटी कोर्स में बीए, बीएससी, बीसीए, बीटेक, आईटी आदि डिग्री कोर्स कर सकते हैं।

हार्डवेयर मेंटेनेंस (hardware Maintenance computer courses in hindi)

कंप्यूटर एक मशीन है, और मशीन को मरम्मत की जरूरत तो पड़ती ही है। इसलिए वह काम करते है कंप्यूटर हार्डवेयर तकनीशियन। घरो से लेकर दुकानों, स्कूल- कॉलेज, अमूमन सभी जगह पर कंप्यूटर मौजूद है। और इसलिए हार्डवेयर मेंटेनेंस का यह कोर्स आप के करियर के लिए काफी लाभदायी हो सकता है।

हर कोई व्यक्ति जो भी कंप्यूटर पर काम कर रहा है वह खुद कंप्यूटर को ठीक नही कर सकता, कंप्यूटर को सही तरीके से मेंटेन करने के लिए कंप्यूटर तकनीशियन आवश्यक है। और यही तकनीशियन का कम सिखने के लिए हार्डवेयर मेंटेनेंस कोर्स होता है जिसमें कंप्यूटर या कंप्यूटर से संबंधित सभी हार्डवेयर को सुरक्षित रखना तथा देखरेख रखना और उससे जुड़ी सभी चीजें सिखाई जाती है। इस कोर्स को सिखने के लिए डिग्री की आवश्यकता नही है। यह कोर्स 10वीं 12वीं के बाद भी किया जा सकता है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग

यह एक डिग्री कोर्स है। साथ ही अगर आप कंप्यूटर साइंस कर रहे है तो इस में भी यह सब्जेक्ट होता है, कंप्यूटर, mobile, या users के जरूरत के मुताबिक सॉफ्टवेयर को बनाना और विकसित करनेवाला सॉफ्टवेयर इंजिनियर होता है। 

 सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए हमें सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग का कोर्स करना होता है और यदि हम अपनी अच्छी प्रैक्टिस और मेहनत इसमें देते हैं और अपनी स्किल्स को डेवलप करते हैं तो  कई मल्टीनेशनल कंपनिया हमें कई सारे ऑफर्स देती है उसमें लाखों रुपए का पैकेज भी मिलता है। सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में सॉफ्टवेयर तथा एप्लीकेशन से जुड़ी छोटी से बड़ी सारी बात सिखाई जाती है। यदि आप भी सॉफ्टवेयर बनाना चाहते हैं,और एक अच्छी नौकरी पाना चाहते हैं तो आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग का कोर्स करना आवश्यक है।

बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन (BCA)

BCA एक अंडर ग्रेजुएट डिग्री कोर्स है, इस कोर्स में वेब डिजाइनिंग, एप्लीकेशन डेवलपमेंट, प्रोग्रामिंग लैंग्वेज तथा बेसिक सिखाया जाता है।इस कोर्स को 12वीं के बाद किया जा सकता है। इसके लिए 12 th में 50% से ज्यादा अंक होने चाहिए। इस कोर्स को करने के बाद जॉब लग सकती है। इस की पूरी डिटेल्स हम ने एक आर्टिकल में दी है। चाहे तो आप पढ़ सकते है। (निचे लिंक है)

BCA -2022 | bca kya hai जाने बीसीए की full और detail जानकारी

संबोधन 

दोस्तों, computer courses in hindi के इस विषय में हमे basic computer courses in hindi से लेकर advance computer courses in hindi के सभी कंप्यूटर कोर्सेस की जानकारी देने की कोशिश है। हो सकता है की कुछ computer course हमारे आर्टिकल में हम सम्मिलित ना कर पाए हो जो आप के दृष्टी से महत्वपूर्ण है। यदि ऐसे कुछ computer courses in hindi हम से छूटे हो तो प्लीज हमें कमेट में जरुर बताएं। 

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!