नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए ? How many marks are required to pass in NEET- 2022

हेल्लों दोस्त्तों, मेरा नाम है संदीप और sandipdhore.com के माध्यम से मैं आप को एजुकेशनल जानकारी देता हूँ। दोस्तों, मुझे फेसबुक पर एक स्टूडेंट ने पूछा, “नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए” तो मैंने सोचा की ना जाने कितने ऐसे स्टूडेंट होंगे जो डॉक्टर बनने का सपना देख रहे होंगे उन के मन में भी, NEET में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए? यह सवाल आता होगा। तो क्यों न इसपर डिटेल में कुछ लिखा जायें। ताकि कई स्टूडेंट्स की हेल्प हो सकें। 

अपनी करियर को दिशा देने के लिए हर साल लाखों स्टूडेंट मेडिकल क्षेत्र और इंजीनियरिंग की तरफ जाते है, जैसे इंजीनियरिंग के एडमिशन के लिए जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम -JEE देना अनिवार्य है, वैसे ही मेडिकल में एडमिशन के लिए जो पूर्व प्रवेश परीक्षा ली जाती है, उसे NEET एग्जाम कहते है। 

नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए
नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए

हर साल लाखों स्टूडेंट डॉक्टर बनने का सपना देखते है, और इस सपने को साकार करने के लिए मेडिकल कॉलेज में एडमिशन करना अनिवार्य है, और मेडिकल कॉलेज में एडमिशन के लिए NEET याने नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (National Eligibility cum Entrance Test) को पास करना भी अनिवार्य है। 

यह तो हो गयी नीट की संक्षिप्त जानकारी और अब आता है स्टूडेंट्स का सवाल नीट में पास होने के लिए कितने मार्क्स चाहिए

दोस्तों, मेडिकल के क्षेत्र में हर साल लाखों नए स्टूडेंट इस क्षेत्र के अलग अलग कोर्सेस में दाखिला लेने के लिए आते है, जैसे ,MBBS, Nursing, BDS और AIIMS में स्टूडेंट अपनी एडमिशन कराना चाहते है, इस के लिए स्टूडेंट्स को NEET की एग्जाम को अच्छे मार्क्स से पास करना होता है? लेकिन उन्हें पता ही नही कितने अच्छे मार्क्स से? नीट पास होने के लिए तक़रीबन कितने नंबर की आवश्यकता है?  तो वे पढाई कैसे करेगे। चलों जानते है। 

स्टूडेंट के दृष्टिकोण से यह जानना इसलिए भी जरुरी है, क्यों की अगर उन्हें पता ही नही की नीट पास करने के लिए कितने नंबर चाहिए तो वे पढाई को सही ढंग से प्लान नही कर पाएंगे। अपने पढाई का एक टारगेट सेट नही कर पाएंगे, इसलिए इस आर्टिकल में हम सिस्टेमेटिक तरीकें से स्टूडेंट को सही मार्गदर्शन करेंगे। 

नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

दोस्तों सब से पहले बात करते है कि NEET की परीक्षा पास करने के लिए कितने मार्क्स की आवश्यकता होती हैं? तो पहले आप यह समझ लें की असल में NEET पास करने के लिए कोई एक निर्धारित अंक सीमा तय नहीं है। ऐसा बिलकुल नही है की आप को पर्टिकुलर इतने मार्क्स की आवश्यकता होगी। इसे आप को समझना होगा।

असल में NEET परीक्षा में कटऑफ मार्क्स होते हैं। कट ऑफ मार्क्स का मतलब है कि आपको पास होने के लिए इस कट ऑफ मार्क्स से ज्यादा अंक लाने होते हैं। और यह कट ऑफ मार्क्स हर साल अलग-अलग वर्गों के स्टूडेंट्स के लिए अलग-अलग कट ऑफ मार्क्स डिक्लेअर होते है। याने नीट का कटऑफ सभी केटेगरी के लिए अलग-अलग होता है। और Cut off डिपेंड होता है स्टूडेंट ने परीक्षा में कैसा परफॉर्म किया है इस बात पर।

दोस्तों, नीट परीक्षा में पास होने तथा मेडिकल कॉलेज में एडमिशन को आरक्षण के बेस पर कैटगरी वाइज वर्गीकृत किया गया है। जिसे हम अच्छेसे समझ लेते है ताकि आप को पता चल जाए की नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

गवर्मेंट मेडिकल कॉलेज नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

हमारे देश में लगभग 532 गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज हैं और इन सारे मेडिकल कॉलेज में नीट परीक्षा के द्वारा दाखिला मिलता है 

अगर आप सामान्य वर्ग से आते है याने जनरल कैटगरी (open) से आते है तो आप को नीट पास करने के लिए मिनिमम 85 % मार्क्स या नंबर की आवश्यकता होती है, याने आप को 600+ अंक लाने पर ही मेडिकल में एडमिशन मिल सकती है।

अगर आप ओबीसी वर्ग से आते है याने ओबीसी कैटगरी (OBC) से आते है तो आप को नीट पास करने के लिए मिनिमम 80 % मार्क्स या नंबर की आवश्यकता होती है, याने आप को 576+ अंक लाने पर ही मेडिकल में एडमिशन मिल सकती है।

अगर आप एससी वर्ग से आते है याने एससी कैटगरी (SC) से आते है तो आप को नीट पास करने के लिए मिनिमम 68 % मार्क्स या नंबर की आवश्यकता होती है, याने आप को 480+ अंक लाने पर ही मेडिकल में एडमिशन मिल सकती है।

अगर आप एसटी वर्ग से आते है याने एसटी कैटगरी (ST) से आते है तो आप को नीट पास करने के लिए मिनिमम 65 % मार्क्स या नंबर की आवश्यकता होती है, याने आप को 470+ अंक लाने पर ही मेडिकल में एडमिशन मिल सकती है।

दोस्तों, यह तो हो गयी गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज की बात। अगर आप गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज में एडमिशन चाहते है और आप को नही पता नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए तो उपरोक्त जानकारी आप के लिए है। अब बात करते है प्राइवेट मेडिकल कॉलेज की। 

प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में नीट में पास होने के लिए कितने मार्क्स चाहिए?

नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए ? यह सवाल जितना सीधा लगता है शायद उतना सीधा नही है। यह तो आप जान ही गये होंगे। 

तो अब बात करते है प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में नीट में पास होने के लिए कितने मार्क्स चाहिए? तो सब से पहले आप को बता दूँ, की हमारे देश में २६० से अधिक मेडिकल कॉलेज है जिन में NEET एग्जाम के जरिये स्टूडेंट्स को एडमिशन दिया जाता है। लेकिन नेट एग्जाम में कितने नंबर चाहिए इस का बेस वही है, आपको पास होने के लिए इस कट ऑफ मार्क्स से ज्यादा अंक लाने होते है जो अलग अलग केटेगरी नुसार अलग अलग होते है।

अगर आप सामान्य वर्ग (open category) में आते है तो  प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में आप को नीट पास करने के लिए 78 % याने 550+ मार्क्स की आवश्यकता होती है।

वही यदि आप ओबीसी वर्ग (OBC category ) में आते है तो प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में आप को नीट पास करने के लिए 72 % याने 510+ मार्क्स की आवश्यकता होती है।

आप यदि एससी वर्ग (SC category ) में आते है तो प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में आप को नीट पास करने के लिए 66% याने 470+ मार्क्स की आवश्यकता होती है।

और आप यदि एसटी वर्ग (ST category ) में आते है तो प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में आप को नीट पास करने के लिए 63% याने 450+ मार्क्स की आवश्यकता होती है।

उपरोक्त आर्टिकल में मैं आप को पहले ही बता चूका हूँ की बताये गये मार्क्स या नंबर हर साल बदलते रहते है, क्यों की यह कट ऑफ मार्क्स होते है और Cut off डिपेंड होता है स्टूडेंट ने परीक्षा में कैसा परफॉर्म किया है इस बात पर। बताये गये अंकों एवं नंबर से आप को एक एक्साक्ट्ली अंदाजा आ जायेगा, की आप को किस तरह से NEET को पास करने की तैयारी करनी है।

इसलिए मुझे लगता है की नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए? इस सवाल का जवाब आप को आसान भाषा में मिल गया होगा।  

मुझे लगता है की उपरोक्त जवाब से आप के मन में नीट का पेपर कितने मार्क्स का होता है? यह सवाल जरुर आया होगा। तो यह जानना भी आप के लिए काफी महत्वपूर्ण है। अगर नीट का पेपर कितने मार्क्स का है यही आप को पता नही तो आप नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए यह अच्छे से नही जान पाओगे। चलों जानते है। 

नीट का पेपर कितने मार्क्स का होता है?

उपरोक्त आर्टिकल में मैंने आप को नीट पास करने के लिए 650+ मार्क्स बताएं है तो आप को तो अंदाजा आ ही गया होगा की नीट का पेपर इस के ऊपर ही होगा। सही है, नीट का पेपर 720 अंकों का होता है।  NEET एग्जाम में कुल 180 प्रश्न पूछे जाते है, और हर प्रश्न के लिए 4 अंक निर्धारित होते है। 

इस में ध्यान रखने वाली बात यह है की जब आप किसी सवाल का जवाब सही देते है तो आप को 4 अंक प्राप्त होते है, और यदि आप कोई गलत जवाब देते है तो आप के 4 अंक काट लिए जाते है। इसलिए नेवेत पेपर सोल्व करने से पहले आप को इस बात को अच्छे से दिमाग में रखने की जरूरत है।

NEET एग्जाम बायोलॉजी, केमिस्ट्री, और फिजिक्स इन तिन विषयों पर बेस होती है, जिस में बायोलॉजी में 90 प्रश्न पूछे जाते है,केमिस्ट्री और फिजिक्स में 45-45 प्रश्न, ऐसे कुल मिलाकर 180 प्रश्न पूछे जाते है।

अगर नीट परीक्षा के समय सीमा की बात करें तो पेपर 3 घंटे का होता है, और आप अपनी पसंद से अंग्रेजी या हिंदी भाषा का चुनाव कर सकते है, अन्य प्रादेशिक भाषा में भी पेपर उपलब्ध होते है।

 यह तो हो गयी नीट पेपर की बात। लेकिन हम ने शुरवात में NEET Exam को बढ़ें ही संक्षिप्त में देखा है, इसलिए मुझे लगता है की नीट के बारे में थोडा विस्तार से इसलिए बताया जाएँ की जब भी कोई स्टूडेंट यह आर्टिकल पढ़ें तो उसे NEET की पूरी जानकरी प्राप्त हो। इसलिए जान लेते है नीट क्या है?

नीट क्या है? NEET kya hai

हमारे देश में मेडिकल ग्रेजुएट (एमबीबीएस, बीडीएस, नर्सिंग इत्यादि) में प्रवेश पाने के लिये एक प्रवेश परीक्षा (entrance exam) होती है जिसका नाम  नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (National Eligibility cum Entrance Test) याने NEET है।

यह एग्जाम मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया और डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया की मंजूरी से NTA यानी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा आयोजित की जाती है। देश भर में चल रहे मेडिकल और डेंटल कॉलेजों (सरकारी या निजी) के एमबीबीएस व बीडीएस पाठ्यक्रमों में प्रवेश इसी परीक्षा के परिणाम के आधार पर होता है।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) और जवाहरलाल स्नातकोत्तर चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (जेआईपीएमईआर, पुडुचेरी) के भी एमबीबीएस कोर्स में प्रवेश इसी परीक्षा से होते हैं। 

सम्बन्धित सवाल – FAQ

NEET का फुल फॉर्म क्या है?

नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (National Eligibility cum Entrance Test) जिसे hindi में राष्ट्रिय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा कहाँ जाता है।


NEET एग्जाम पहली बार कब होई थी?

नीट NEET एग्जाम पहली बार 5 मई 2013 को हुई थी।


NEET परीक्षा के लिए क्या क्वालिफिकेशन जरुरी है?

NEET Exam क्वालिफिकेशन की बात करें तो इसके लिए 12वीं साइंस में कम से कम 50% अंकों से उत्तीर्ण होना अनिवार्य है। साथ ही स्टूडेंट्स की आयु 17-25 वर्ष से बीच होनी चाहिए। परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले स्टूडेंट का आधार कार्ड होना चाहिए।


नीट की परीक्षा साल में कितने बार होती है?

NEET सिर्फ एक एंट्रेंस एग्जाम होता है। यह परीक्षा साल में एक बार होती है, जो हर साल 1 बार मई माह में आयोजित की जाती है। परीक्षा पास करने वाले स्टूडेंट्स को अच्छे मेडिकल कॉलेज में प्रवेश मिलता है और साथ ही जो स्टूडेंट्स इस परीक्षा को पास नहीं कर पाते है उन्हें दोबारा अगले साल परीक्षा देने का मौका दिया जाता है।


NEET की फीस कितनी होती है?

सामान्य वर्ग याने General category के लिए 1600 रुपयें, ओबसी वर्ग (OBC- category ) के लिए 1500 रूपये एससी / एसटी वर्ग (SC/ST category ) के लिए 800 रुपयें फीस होती है। वही देश के बाहर के स्टूडेंट्स के लिए NEET की फीस 8500 रुपयें है।


संबोधन 

दोस्तों, मुझे लगता है की अब आप अच्छेसे समझ गये होंगे की नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए या नीट पास होने के लिए कितने मार्क्स चाहिए? फिर भी अगर एक स्टूडेंट होने के नाते आप के मन में NEET सम्बन्धित और सवाल होना लाजमी है। अगर नीट से जुड़ें या किसी अन्य एजुकेशनल बातों से जुड़ें आप के सवाल है तो हमें कमेंट करें। हम आप के सवालों के विस्तारित और समाधान पूर्वक जवाब देने हेतु तत्पर है।

नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए ?
नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!