प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स जान लें – tips to crack competitive exams

अगर आप प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे है तो आप ने tips to crack competitive exams,  प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कैसे करे? या competitive exam ki taiyari kaise kare जैसे सवाल इन्टरनेट पर जरुर खोजे होंगे। और आप को प्रतियोगी परीक्षा के तैयारी के स्टेप्स भी मिले होंगे। लेकिन क्या आप को लगता है की यह पर्याप्त है? 

प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कैसे करे
प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कैसे करे

हेल्लों दोस्तों मेरा नाम है संदीप और मैं sandipdhore.com के माध्यम से एजुकेशनल जानकारी देता हूँ। मैं उन सभी स्टूडेंट्स के साथ बात करना चाहता हूँ जो अभी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे है, या फिर प्रतियोगी परीक्षा देना चाह रहे है। 

सब से पहले मेरा यह मानना है की प्रतियोगी परीक्षा क्रैक करने के लिए खुद का माइंड सेट करना काफी जरुरी है,  प्रतियोगी परीक्षा के टेंस को समझना जरुरी है, और साथ ही प्रतियोगी परीक्षा के बेस को जानना भी अहम है? 

दोस्तों कोई भी एग्जाम हार्ड नही होती जैसे की प्रतियोगी परीक्षाओं को समझा जाता है। और इस आर्टिकल में मैं आप को यही बाते बताऊंगा जो प्रतियोगी परीक्षा को क्रैक करने के आप के नजरिये को बदल देगा। 

क्या है प्रतियोगी परीक्षा – tips to crack competitive exams

सब से पहले यह सवाल खुद से पूछिये? क्या है प्रतियोगी परीक्षा? और क्यों इतनी महत्वपूर्ण है? प्रतियोगी परीक्षा के टेंस को समझने की कोशिश करिये। जिस पोस्ट के लिए हम प्रतियोगी परीक्षा दे रहे है, उस पोस्ट के लिए कैसे व्यक्ति की जरूरत है? 

आप सभी को पता है, प्रशासकीय सेवाओं की पोस्ट के लिए प्रतियोगी परीक्षा ली जाती है। प्रतियोगी परीक्षा द्वारा उस व्यक्ति के काबिलियत को परखा जाता है, जो उस पोस्ट पर नियुक्त होनेवाला है। उस व्यक्ति की सोच, परिस्थिति अनुरूप निर्णय क्षमता, तटस्थता, विचारों की गति-शीलता, परखने की समझ, स्पष्टता, जिम्मेदारी का एहसास को परखने के लिए जो परीक्षा ली जाती है, उसे प्रतियोगी परीक्षा कहते है। इसलिए प्रतियोगी परीक्षा देने से पहले इन गुणों को खुद के भीतर विकसित और विस्तारित करना काफी महत्वपूर्ण है। 

क्यों की यह गुण अगर आप के भीतर है तो यक़ीनन आप एग्जाम में आनेवाले क्वेश्चन को एक अलग नजरिये से देखने की कोशिश करोगे।

प्रतियोगी परीक्षा का बेस क्या है?

क्या आप को पता है, प्रतियोगी परीक्षा का बेस क्या है? यह जानना हर उस स्टूडेंट्स के लिए जरुरी है जो प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा है। मूलतः तिन बातें प्रतियोगी परीक्षा के लिए काफी अहम् है। तार्किकता(logic), गणना (Calculation) और दृष्टिकोण (Approach)

(इन्ही तिन बातों को आधार बनाकर कोपर्निकस, आर्यभट जैसे महान वैज्ञानिकों ने बिना किसी संसाधन के हमारी भूमंडलीय रचना गोल है ऐसा कहाँ था, इन्ही तिन बातों के आधार पर महान साइंटिस्ट आइंस्टाईन ने सापेक्षता सिद्धांत दुनिया को दिया।)

प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कैसे करे? – tips to crack competitive exams

मेरा यह मानना है की यह तीनों बातें अगर कोई स्टूडेंट खुद में बिल्ड कर लें तो किसी भी तरह की प्रतियोगी परीक्षा क्रैक कर सकता है।  आप अपने मोटिवेशन के लिए यह सोच सकते है की जब कोई संसाधन नही होने पर भी बस अपने तार्किक बुद्धि और व्यापक दृष्टिकोण को सामने रखकर सिर्फ कैलकुलेशन के जरिये कोई व्यक्ति ब्रम्हांड के भेद को जान सकता है, तो क्या हमारे पास मौजूद संसाधनों और आइडियाज के साथ हम अपने तर्क, दृष्टिकोण और गणना को आधार बनाकर एक एग्जाम क्रैक नही कर सकते। बिलकुल कर सकते है। 

सब से पहले हम अपने भीतर इन तीनों बातों को कैसे बिल्ड कर सकते है यह जानते है। 

तार्किकता (logic) 

हम अपने सोच को कितना विस्तार दे सकते है, हम किस तरह से अपने भीतर तर्कसंगत विचारों का निर्माण कर सकते है, इस के लिए आप को सोचना होगा। 

  • हर बात को हर एंगल से सोचने का प्रयास करें। 
  • हर बात को भुत, भविष्य, वर्त्तमान में सोचने की कोशिश करें।
  • किसी भी बात के पैलुओं को समझने की कोशिश करें।

जब हम पढ़ते है या पढाई करते है, प्रतियोगी परीक्षा के पुराने क्वेश्चन सोल्व करने की कोशिश करते है, उस में हमें तर्क का इस्तेमाल करना है। ( एक बात हमेशा याद रखना कोई भी सवाल हो, वो हमेशा जवाब की ओर इशारा करता है, हिंट देता है। अगर हम तर्क के साथ सवाल को समझे तो हमें कैलकुलेशन का जरिया पता चलता है)

कैलकुलेशन (गणना)

प्रतियोगी परीक्षा को क्रैक करने के लिए कैलकुलेशन को समझना सब से महत्वपूर्ण है, कोई सवाल हमें क्या पूछना चाहता है? अगर हम सवाल के इस टेंस को समझ लें तो कैलकुलेशन को आसान कर सकते है। इस का अभ्यास करें के लिए हमें हर बात में कैलकुलेशन को ढूंढ़कर उसे सोल्व करने की कोशिश करनी है। हर उस चीज का कैलकुलेशन करें जिस से अपने लाइफ में इमेजिन कर रहे है, या सपने देखते है।

(प्रतियोगी परीक्षा के सवालों को क्रैक करने के लिए हमें पहले तो सवालों के टेंस को समझना है, और फिर कैलकुलेशन करना है)

जो स्टूडेंट्स तर्क और कैलकुलेशन के थ्योरी को अच्छे से समझ पाया उस के लिए कुछ भी मुश्किल नहीं है। 

दृष्टिकोण (Approach)

किसी भी बात की सफलता के लिए यह एक महत्वपूर्ण अंग है । आप किस बात के प्रति किस तरह का दृष्टिकोण रखते है। इस पर आप के सफल और असफल होने की संभावनाओं को देखा जा सकता है। यदि आप पहले ही यह सोच कर पढाई करेंगे की प्रतियोगी परीक्षाएं काफी मुश्किल होती है तो यकीनन परीक्षाएं मुश्किल होती जायेगी और आप के सफल होने की सम्भावना को कम कर देगी। इस लिए प्रतियोगी परीक्षा क्रैक करने के लिए आप को व्यापक और सकारात्मक दृष्टिकोण रखना काफी महत्वपूर्ण है।

tips to crack competitive exams

अब बात करते है प्रतियोगी परीक्षा क्रैक करने के लिए हमें किस तरह से पढाई करनी है।

अपने दिमाग से “मुश्किल” शब्द को हटा दें 

दोस्तों, एक बात हमेशा यद् रखना की कोई भी पढाई मुश्किल नही होती, जिस चीज के बारे में हम सोचते है वह हमें आसन लगती है और जिस चीज पर हम सोच नही पाते वह मुश्किल लगती है। बस यही बात होती है। 

आप सोच के देखियें जब आप १० वी क्लास में गये होंगे तब आप को उस क्लास की पढाई मुश्किल लगती होगी, और अब आप १२ पास कर लिए है तो आप को १० वी क्लास की पढाई काफी आसान लगती है। 

ऐसा सिर्फ इसलिए क्यों की तब आप उस पढाई से अनभिज्ञ थे और अब जानते है, बस इतना फर्क आ गया है। इसलिए प्रतियोगी परीक्षा की पढाई करते वक्त हमें जो भी मुश्किल लगे उस के बारे में शुरू से जानने  की, समझने की कोशिश करते रहे। आसन है थोड़ी प्रैक्टिस से आप यह कर सकते है।

समय-सारणी बनाएं और उसे फॉलो करें 

किसी भी बात के लिए टाइम टेबल इसलिए आवश्यक है, जिस से हम अपना काफी समय बचा सकते है, और अपने पढाई में एक अनुशासन ला सकते है।  और अनुशासन इसलिए जरुरी है ताकि आप चीजों को या कहे तो पढाई को अच्छे से कर पाते है। इसलिए दों समय सारणी बनाएं। एक डेली रुटीन की और दूसरा अपने पढाई की, ताकि आप अपने समय को अच्छे से डिस्ट्रीब्यूट कर सकें।

खुद को एकाग्र-चित्त करें 

अगर आप को प्रतियोगी परीक्षा क्रैक करनी है तो जरुरी है आप का एकाग्र और शांत रहना। अगर आप एकाग्र और शांत है तो आप काफी अच्छे ढंग से फोकस कर सकते है। इस के लिए अपने डेली रुटीन में ध्यान और योग को शामिल करें। ध्यान और योग को किसी धर्म से जोड़ना मुर्खता है। शारीरिक संरचना और कर्मेंद्रिये और ज्ञानेंद्रिये को संतुलित करने के लिए ध्यान और योग महत्वपूर्ण साबित होते है। जो मन को एकाग्र करते है।

नोट्स बनाने की आदत डालें 

आप जो पढ़ रहे है वह किस तरह से समझ रहे है यह जानना आप के लिए महत्वपूर्ण है। इसलिए आप जो भी पढ़ रहे है, जिस का भी अध्ययन कर रहे है, उसे अपने शब्दों में विस्तार देने की कोशिश करें, इस के लिए नोट्स बनाएं। 

आप को पता है आप जो भी पढ़ रहे है वही प्रतियोगी परीक्षा में नही आनेवाला, उस आधार पर आप को कुछ भी पूछा जा सकता है, एक प्रश्न को आधार बनाकर अलग अलग तरह के प्रश्न आप से पूछे जा सकते है। इसलिए जो भी आप पढ़ रहे है उसे अपनी सोच से विस्तार दें और उस के नोट्स बनाएं। ताकि इस से रिलेटेड कोई भी सवाल आप समझ सकते है।

खुद पर भरोसा रखें

एक बात हमेशा अपने-आप को कहें “अगर वे कर सकते है तो मैं क्यों नही” , प्रतियोगी परीक्षा जिन-जिन लोगोने क्रैक की है वे भी तो मेरे भांति इन्सान ही है। और यह सही भी है, हम खुद को दूसरों से कम आंकते है,  या फिर हम ओवर कॉन्फिडेंस हो जाते है इसलिए आगे बढ़ नही पाते। दुनिया में कोई भी चीज नामुमकिन नही है, और हर बात में हर तरह की संभावनाएं मौजूद है, बस हमें खुद को उस तरह से ढालने की जरूरत है। जो हम कर सकते है।

संबोधन 

दोस्तों, प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कैसे करे – tips to crack competitive exams के इस आर्टिकल में हमने आप को पढाई से अलग लेकिन प्रतियोगी परीक्षा को क्रैक करने के तरीकें बताएं है।  अगर आप चाहे तो मैं प्रतियोगी परीक्षा के लिए सब्जेक्ट वाइज तैयारी कैसे करनी है, इस पर डिटेल में बताना चाहूँगा। इस के लिए कमेंट बॉक्स में बताएं। अगर इस से सम्बन्धित आप का कोई सवाल है तो भी आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!