सकारात्मकता और प्रसन्नता के लिए जरुरी है,  " सचेतन ध्यान "  

मन की गहराई से किया गया एक अनौपचारिक अभ्यास होता है सचेतन ध्यान  

साँस की गति और मन की जागरूकता का अभ्यास सचेतन ध्यान कहलाता है 

जिस के निरंतर अभ्यास से हम खुद को सकारात्मकता और प्रसन्नता से आश्वस्त कर सकते है 

सचेतन ध्यान हमें भौतिक सुख-दु:खों से ऊपर उठाकर मन में असीम शांति का अनुभव कराता है 

सचेतन ध्यान का एक विशिष्ट अभ्यास होता है जिसे हम प्रातः योगा या अन्य वर्कआउट के बाद करते है 

जो भी व्यक्ति भविष्य की चिंता से ग्रसित है उस के लिए सचेतन ध्यान काफी फायदेमंद साबित होता है 

सचेतन ध्यान से मानसिक सुधार के साथ साथ शारीरिक सेहत में भी तेजी ला सकते है. जो आप के सुदृढ़ता के लिए अनिवार्य है 

अगर आप किसी तनाव के कारण नींद की समस्या से जूझ रहे है तो ऐसे में सचेतन ध्यान काफी मददगार साबित होता है 

सचेतन ध्यान कैसे करें यह जानने के लिए अगली कड़ी तक पहुचें