ना ही ब्रम्हांड का निर्माण हुआ है और ना ही ब्रम्हांड का अंत होगा !! 

प्रसिद्ध बिग-बैंग थ्योरी के अनुसार लगभग १३.७ अरब वर्ष पूर्व ब्रह्मांड सिमटा हुआ था।

इसमें हुए एक विस्फोट के कारण इसमें सिमटा हर एक कण फैलता गया जिसके फलस्वरूप ब्रह्मांड की रचना हुई। 

लेकिन क्या वाकई ब्रम्हांड का निर्माण इस तरह से हुआ जिसकी वैज्ञानिक की पुष्टि करते है।

मेरा मानना है की ब्रम्हांड के निर्माण की यह बिग-बैंग थ्योरी मात्र आधा ही सच है. जो प्रक्रिया को पूर्ण नही करती।

ब्रम्हांड का धीरे-धीरे सिकुड़ना और धीरे- धीरे फैलाव यह निरंतर प्रक्रिया का हिस्सा है ।

मुझे लगता है ब्रम्हांड धीरे-धीरे गुरुत्वाकर्षण की सीमा तक फैलता है और फिर धीरे-धीरे गुरुत्वाकर्षण के केंद्र तक सिकुड़ता है।

और यह एक निरंतर प्रक्रिया का हिस्सा है, जिस से हम समझ सकते है की, ना तो ब्रम्हांड का निर्माण होता है और ना ही अंत।  

बिग-बैंग थ्योरी का सच, हो सकता है आधा सच हो, जब तक हम ब्रम्हांड की सिकुड़ने की प्रक्रिया को नही समझ पाते।